“RAEES” CRITICS RATING & REVIEW, बेहतरीन एक्टिंग और डायलॉगबाजी के लिए देख सकते हैं ‘रईस’

Posted on

Welcome to My D23 Online Guidance YouTube Videos

“RAEES” CRITICS RATING & REVIEW, बेहतरीन एक्टिंग और डायलॉगबाजी के लिए देख सकते हैं ‘रईस’, RAEES First Day Collection, RAEES Movie review, raees gujarat based movie, raees critics, How is raees movie?

डर और बाजीगर जैसी फिल्मों में आपने शाहरुख खान को रोमांटिक किरदारों के अलावा अलग तरह के पात्र को निभाते हुए देखा होगा, एक बार फिर से शाहरुख ने ‘रईस’ के साथ थोड़ा अलग किरदार निभाने की कोशिश की है

कैसी बनी है यह फिल्म, आइए पता करते हैं।

कहानी…

यह कहानी 80 के दशक में गुजरात में बेस्ड है जहां अपनी अम्मीजान (शीबा चड्ढा) के साथ रईस (शाहरुख खान) रहा करता था, घर की माली स्थिति काफी दर्दनाक होने की वजह से स्कूल के टाइम से ही रईस का दिमाग धंधे की तरफ आकर्षित होने लगता है, वो देसी शराब बेचने के साथ साथ अंग्रेजी शराब की दुकान पर एक वर्कर के तौर पर भी लग जाता है लेकिन एक वक्त के बाद रईस किसी के अंडर में नहीं बल्कि खुद का धंधा खोलना चाहता है, जिसकी वजह से उसे कुछ पैसे इकट्ठे करने पड़ते हैं, खुद का धंधा खोलने के बाद रईस के पीछे वहां का एसपी मजूमदार (नवाजुद्दीन सिद्दीकी) पड़ जाता है जो काफी कड़क पुलिसवाला है, लेकिन रईस का धंधा रोक पाने की हजार कोशिशें करने के बावजूद मजूमदार उसे पकड़ नहीं पाता है, फिर कहानी में ट्विस्ट टर्न्स आते हैं, चुनाव, दंगे बोम ब्लास्ट इत्यादि की भी अलग-अलग घटनाएं दर्शाई जाती हैं और फिल्म को अंजाम मिलता है।

डायरेक्शन…

फिल्म का डायरेक्शन बढ़िया है, साथ ही केयू मोहनन की सिनेमेटोग्राफी कमाल की है, फिल्म का बैकग्राउंड बहुत ही अच्छा बनाया गया है जिसकी वजह से 80 के दशक का माहौल पूरी फिल्म के दौरान बना रह रहता है। फिल्म के संवाद भी काफी अच्छे हैं।

फिल्म की कहानी इंटरवल के बाद काफी खिंची-खिंची हुई नजर आती है, जिसके ऊपर काफी काम किया जा सकता था। साथ ही फिल्म में गानो की मौजूदगी तो है, लेकिन उससे फिल्म की रफ़्तार पर काफी असर पड़ता है, सिर्फ सनी लियॉन पर फिल्माया गया गीत ही कहानी के साथ सटीक बैठता है। फिल्म के सेकंड हाफ को और रोचक बनाया जा सकता था। माहिरा खान एक तरह से फिल्म के लिए मिस कास्ट दिखाई पड़ती हैं, उनकी मौजूदगी से फिल्म का रोमांस वाला माहौल काफी निराशाजनक रहता है।

स्टारकास्ट की परफॉर्मेंस…

फिल्म में शाह रुख खान, नवाजुद्दीन सिद्दीकी का काम बहुत ही बेहतरीन हैं, दोनों के बीच डायलॉग्स के आदान प्रदान भी काफी दिलचस्प हैं। एक्टिंग वाइज जहां एक तरफ नवाजुद्दीन की लिखकर लेने की स्टाइल है वहीं दूसरी तरफ शाह रुख के डायलॉग बोलने का अंदाज कमाल का है । मोहम्मद जीशान अयूब, अतुल कुलकर्णी और बाकी कलाकारों का काम भी सहज है, माहिरा खान को यहां बहुत ही अच्छा मौका मिला था, लेकिन शायद वो उसे अच्छे से भुना नहीं सकी।

फिल्म का म्यूजिक…

फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर अच्छा है लेकिन गानो में सिर्फ लैला मैं लैला ही कहानी को न्यायसंगत कर पाता है।

देखें या नहीं…

अगर आप शाहरुख खान और नवाजुद्दीन सिद्दीकी के बड़े वाले फैन हैं तो एक बार जरूर देख सकते हैं।

‣ Facebook: http://www.facebook.com/d23onlineguidance
‣ Twitter: http://www.twitter.com/deepak230682
‣ Google+: https://goo.gl/f5BSS5
‣ Website: http://www.dprasad23.com
‣ Website: http://www.utubetutorials.blogspot.com

Thank you for watching my youtube videos.

Please Hit the Like Button & Subscribe My Channel…

 

 

Advertisements