Unidentified Land of Immortal, अमर होने का राज यहां छिपा है, सैटेलाइट में भी नहीं दिखती ये जगह

Posted on

Welcome to My D23 Online Guidance YouTube Videos

Unidentified Land of Immortal, अमर होने का राज यहां छिपा है, सैटेलाइट में भी नहीं दिखती ये जगह, Himalaya the Mountain for Immortal Gain, How to become immortal, Which place where we can become immortal, Is immortal true for the human beings?, Can any human become immortal?, Immortality is true? Is immortaltiy true? Mahabharat & Ramayana, People those are immortal forever, Shambhala, शांग्री-ला, Shangri-La, शंभाला, सिद्धआश्रम, Sidhashrama, Fact beween Modern Science & Immotal Truth, What the Modern Science is explaining about the truth of immortalty, Lost Horizon, About the lost kingdom of Shangri-La, James Hilton

हिमालय की ऊंची पहाडियों में बहुत से सीक्रेट छिपे हैं। ज्ञानगंज मठ हिमालय में एक छोटी-सी जगह है जो शांग्री-ला, शंभाला और सिद्धआश्रम के नाम से भी जानी जाती है। कहते हैं कि यहां से ही सबका भाग्य निश्चित होता है। यह भी कहा जाता है कि यहां अमर होने का राज छिपा है। हिमालय में इसकी ठीक जगह किसी को नहीं पता। ये इंडिया में ही नहीं, तिब्बत में भी फेमस है।

जानिए इस जगह से जुड़ी कुछ बातें…

-ये ऐसी जगह है जो सिर्फ सिद्धपुरुषों को ही आसानी से मिलती है। यहां आम मनुष्य नहीं जा पाता है।

  • ज्ञानगंज में कोई मृत्यु नहीं होती। यहां रहने वाले संन्यासियों की उम्र रुक जाती है।
  • इस मठ में समय को रोकने वाले महात्मा तपस्या लीन रहते हैं। आश्चर्य की बात है कि ये सैटेलाइट में भी नहीं दिखती।

  • ये जगह किसी खास धर्म या कल्चर की नहीं है। न ही ईस्ट या वेस्ट से जुड़ी है।

  • लेखक जेम्स हिल्टन की किताब ‘Lost Horizon, about the lost kingdom of Shangri-La’ इसी जगह का जिक्र हुआ है।

  • वाल्मीकि रामायण और महाभारत में भी ग्यानगंज का संदर्भ आता है। इनमें इसे सिद्धाश्रम कहा गया है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें, बुद्धिस्ट का क्या संबंध है इस जगह से…

बुद्धिज्म का क्या संबंध है इस जगह से

बुद्धिस्ट ऐसा मानते हैं कि भगवान बुद्ध ने अपने आखिरी दिनों में कालचक्र के बारे में जान लिया था। उन्होंने जिन लोगों को इसका ज्ञान दिया था, उनमें एक राजा सुचंद्र थे। वो ये इस ज्ञान के साथ जब अपने राज्य आ गए तो तभी से तिब्बत में उस स्थान को शंभाला कहा जाने लगा। इसका मतलब होता है ‘खुशियों का स्रोत’। कहा जाता है कि यह जगह आध्यात्मिक शक्ति का केंद्र है। बुद्धिस्ट्स यहां किसी न किसी तरह पहुंच जाते हैं, पर सबको यहां का रास्ता साफ-साफ समझ में नहीं आता। ये जगह इस तरह बनी है कि मॉडर्न टेक्नोलॉजी के मैपिंग सिस्टम भी इसे ढूंढ निकालने में समर्थ नहीं हैं।

क्या कहता है मॉर्डन साइंस

क्या कहता है मॉडर्न साइंस

मॉडर्न साइंस के अनुसार बुढ़ापा एक बीमारी है। फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन, अमेरिका, रशिया जैसे देशों ने बहुत लंबी स्टडी के बाद ये पता लगाया कि अगर बॉडी में नए सेल्स बनते रहें और ऑर्गन्स किसी तरह हमेशा हेल्दी रह सकें तो इंसान 1000 साल से भी ज्यादा जी सकता है। यही बात आयुर्वेद में भी कही जाती है। ग्यानगंज के योगी योग से अपने इमोशन्स पर कंट्रोल कर सकते हैं, जिससे बॉडी में हार्मोन्स को कंट्रोल किया जा सकता है। मॉडर्न साइंस में इमोशन्स कंट्रोल करने का कोई तरीका नहीं, इसलिए मृत्यु पर भी कोई कंट्रोल नहीं है।

‣ Facebook: http://www.facebook.com/d23onlineguidance
‣ Twitter: http://www.twitter.com/deepak230682
‣ Google+: https://goo.gl/f5BSS5
‣ Website: http://www.dprasad23.com
‣ Website: http://www.utubetutorials.blogspot.com

Thank you for watching my youtube videos.

Please Hit the Like Button & Subscribe My Channel…

Advertisements